आप ने एक्टिविस्ट दिश रवि की गिरफ्तारी की कड़े शब्दों में निंदा की

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता एवं विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि आम आदमी पार्टी, दिल्ली पुलिस द्वारा भारत की 21 वर्षीय एक्टिविस्ट दिश रवि की गिरफ्तारी की कड़े शब्दों में निंदा करती है और दिशा रवि को तत्काल रिहा करने की मांग करती है। यह गिरफ्तारी नहीं है, बल्कि एक असाधारण अपहरण है। उन्होंने कहा, मोदी सरकार भारत के युवाओं को डराना चाहती है, ताकि वे भाजपा के खिलाफ आवाज न उठाएं। आम आदमी पार्टी देश के सभी युवाओं से एकजुट होकर लोकतंत्र को खत्म करने की चल रही भाजपा की कोशिशों के खिलाफ आवाज़ उठाने की अपील करती है। दिश रवि की गिरफ्तारी से पता चलता है कि किसानों के विरोध के कारण मोदी सरकार किस कदर बौखला गई है और डरी हुई है। मोदी सरकार को यह बताना चाहिए कि वे दो शब्द कौन से हैं, जिन्हें दिशा रवि ने कहा है और जो भाजपा के अनुसार राष्ट्र के लिए खतरा बन गया है।
आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता एवं विधायक राघव चड्ढा ने पार्टी कार्यालय में सोमवार को प्रेसवार्ता को संबोधित किया है। राघव चड्ढा ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सुबह ट्वीट कर साफ तौर पर युवा एक्टिविस्ट दिशा रवि की गिरफ्तारी की निंदा की है। आम आदमी पार्टी एक स्वर में कहना चाहती है कि भाजपा की केंद्र सरकार ने युवा कार्यकर्ता दिशा रवि को गिरफ्तार कर निंदनीय कार्य किया है। आम आदमी पार्टी कड़े शब्दों में इसकी निंदा और आलोचना करती है। हम यह सोचते हैं कि एक इतनी बड़ी विशाल 300 सांसदों वाली 56 इंच की छाती वाली सरकार एक 21 साल की जलवायु एक्टिविस्ट से डरती है। सरकार इतना डरती है कि दिल्ली से पुलिस भेज कर उसे गिरफ्तार किया गया है। प्रधानमंत्री ने कहा था कि विपक्ष के कुछ नेता हैं जो नाराज फूफी की तरह बर्ताव करते हैं, जब-जब नाराज फूफी को शादी में नहीं बुलाया जाता है। क्या आज ऐसी स्थिति आ गई है कि हम अपने देश के युवा को नाराज फूफी समझकर उन्हें जेलों में बंद करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने कुछ दिन पहले एक आदेश में कहा था कि एक दिन के लिए भी किसी की स्वतंत्रता, अभिव्यक्ति से खिलवाड़ होता है तो वह देश और संविधान के खिलाफ है। इसकी भारी कीमत इस देश को चुकानी पड़ सकती है।
राघव चड्ढा ने कहा कि देश के युवा से नरेंद्र मोदी सरकार घबराई और डरी हुई है। मोदी सरकार को विपक्ष से एलर्जी है लेकिन उससे ज्यादा युवाओं से एलर्जी है। युवा छात्र बड़ी मजबूती से अपनी बात को इस लोकतंत्र में खुलकर रखते आए हैं। लेकिन भारतीय जनता पार्टी को देश का युवा शायद पसंद नहीं है जिसकी वजह से उन्होंने 21 साल की छात्रा को गिरफ्तार किया है। दिल्ली से एक गुप्त ऑपरेशन के तहत दिल्ली पुलिस को भेजा गया। यह वही भाजपा है जब इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगाया था तो उस समय इसके कई सारे नेता जेल में बंद हुए थे। भाजपा के वो नेता अपनी जेल में बिताए हुए कुछ महीनों को एक सम्मान की तरह पहनकर घूमते हैं। आज भी अपने जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धियों में इसे गिनाते हैं कि इंदिरा गांधी की इमरजेंसी में हम जेल गए थे। क्योंकि हमें देश के लोकतंत्र की रक्षा करनी थी। 1970 के दशक की याद जो बात-बात पर दिलाते हैं और आपातकाल की बात कर कांग्रेस पार्टी को घेरने की कोशिश करते हैं। आज वह लोग उसी हिसाब से इस देश को अघोषित आपातकाल की ओर ले जा रहे हैं।

    Leave Your Comment

    Your email address will not be published.*