Sunday, December 5, 2021

आयुर्वेद का महत्व और स्वास्थ्य लाभ

Must Read

डॉ चंचल शर्मा
आयुर्वेद हजारों वर्षों से है, और इसे प्राचीन भारत में बीमारियों के इलाज और एक स्वस्थ जीवन शैली जीने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक माना जाता था। अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के महत्व के कारण, हमने अपनी आधुनिक दुनिया में भी आयुर्वेद के सिद्धांतों और अवधारणाओं का उपयोग करना शुरू कर दिया। आयुर्वेद हमारी आधुनिक जीवनशैली और स्वास्थ्य उन्मुख आदतों को प्राकृतिक पदार्थों, दवाओं और जड़ी-बूटियों के उपयोग के प्राचीन ज्ञान के साथ मिलाता है ताकि हमें स्वस्थ, सुखी, तनाव मुक्त और रोग मुक्त जीवन जीने में मदद मिल सके। आयुर्वेद को आधिकारिक तौर पर 1976 में WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) द्वारा मान्यता प्राप्त हो चुकी है। यह विज्ञान पूर्ण स्वास्थय चिकित्सा पर आधारित है।
आयुर्वेदिक औषधियों के सेवन से कई शारीरिक और मनोवैज्ञानिक स्थितियों के इलाज के में मदद मिलती है। यह औषधियां गठिया, मोटापा, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, तंत्रिका विकार, सर्दी, बृहदांत्रशोथ, कब्ज, मोटापा, त्वचा की समस्या, अल्सर जैसी गंभीर बीमारियों से छुटकारा दिलाती है। आयुर्वेदिक दवाओं में प्राकृतिक तत्व होते हैं, इसलिए इनका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। ये दवाएं व्यक्ति के तन और मन को रोगमुक्त बनाती हैं।
आयुर्वेदिक हर्बल औषधियों से तनाव और मेटाबॉलिज्म की समस्या से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है। मुँहासे, एलर्जी, अस्थमा, चिंता, क्रोनिक थकान सिंड्रोम, अवसाद, मधुमेह, फ्लू और प्रतिरक्षा समस्याएं भी जड़ से खत्म हो जाती है।
आयुर्वेद का मुख्य उद्देश्य मन, शरीर और आत्मा के बीच व्यक्तिगत संतुलन को बनाएं रखना है –
आयुर्वेदर शरीर के दोषों को तीन श्रेणियों में वर्गीकृत करता है –
कफ दोष (प्रथ्वी और जल )
पित्त दोष (आग्नि और जल)
वात दोष (वायु और आकाश)
इसलिए, सभी आयुर्वेदिक उपचार इस तथ्य के आधार पर व्यक्तियों के लिए अलग-अलग होते हैं कि वे किस प्रकार के शरीर के हैं। प्रत्येक व्यक्ति को अपने शरीर की बनावट के आधार पर व्यायाम, योग, ध्यान और पोषण लेने की आवश्यकता होती है। जब तक आप अपने शरीर के प्रकार के अनुसार खा रहे हैं और उसी के अनुसार व्यायाम कर रहे हैं, आयुर्वेद का दावा है कि आप रोग मुक्त रहेंगे। आयुर्वेद से प्रेरित स्वस्थ जीवन जीने की प्राथमिक आवश्यकताओं में स्वस्थ भोजन, ध्यान और योग शामिल हैं। यदि आप इन तीनों का पूरे नियम के साथ पालन करते हैं, तो आप बहुत सी बीमारियों को रोक सकते हैं, एक खुशहाल जीवन जी सकते हैं और हर दिन बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। जीवन के आयुर्वेदिक तरीके से, हम तनाव को हरा सकते हैं, जो कि इस आधुनिक दुनिया में लोगों को होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं की एक श्रृंखला के अंतर्निहित कारणों में से एक है।
आयुर्वेद का उद्देश्य एक स्वस्थ व्यक्ति को स्वस्थ रखना और किसी व्यक्ति में होने वाले रोगों (मन, शरीर या दोनों) का उपचार करना है।
आधुनिक विश्व में आयुर्वेद के लाभ –
आयुर्वेद स्वास्थ्य रहने के लिए बेहतर दृष्टिकोण प्रदान करता है ।
हमें ऊर्जावान बनाता है।
शुद्धिकरण के द्वारा हमारे शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर करता है।
पाचन तंत्र को मजबूती प्रदान करता है।
शरीर की क्षमता (शाक्ति) और रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है।
शरीर में होने वाले दोष एवं विकारों से हमारी रक्षा करता है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

एग्रीबाजार पहला ऑनलाइन एग्री-ट्रेडिंग प्‍लेटफॉर्म बना

नयी दिल्ली। भारत की प्रमुख फुल-स्‍टैक एग्रीटेक कंपनी एग्रीबाजार ने अपने वर्चुअल पेमेंट सॉल्‍यूशन प्‍लेटफॉर्म एग्रीपे को नए अंदाज...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img