Wednesday, November 30, 2022

उम्मीद से भरे डिमांड आउटलुक के चलते तेल में तेजी, सोने में सुधार हुआ

Must Read
प्रथमेश माल्या, एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड

सोना
कल के कारोबारी सत्र में स्पॉट गोल्ड की कीमत 0.4 प्रतिशत बढ़कर 1907.9 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुई क्योंकि अमेरिकी ट्रेजरी की यील्ड कम हो गई, जिससे सोना होल्ड करने की लागत कम हो गई। पिछले कुछ कारोबारी सत्रों में अमेरिकी ट्रेजरी यील्ड के विपरीत सोना बढ़ रहा है। सोने के लिए लाभ को डॉलर इंडेक्स के रूप में सीमित कर दिया गया था, जो अमेरिकी डॉलर की मजबूती का अनुमान लगाता है, जिससे अन्य मुद्रा धारकों के लिए सोना कम इच्छित हो गया। इसके अलावा, वैश्विक अर्थव्यवस्था में हालिया सुधार और तेल की बढ़ती कीमतों ने निवेशकों को जोखिम भरे परिसंपत्ति वर्गों की ओर स्थानांतरित कर दिया। हालांकि, संभावित मुद्रास्फीति की चिंताओं ने सोने की मांग को ऊंचा रखा। दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में विकास के संकेतों के लिए दिन में बाद में निर्धारित प्रमुख अमेरिकी आर्थिक आंकड़ों पर बाजार की पैनी नजर होगी।

कच्चा तेल
कल के कारोबारी सत्र में डब्ल्यूटीआई क्रूड की कीमतें 1.6 प्रतिशत से अधिक बढ़कर 68.8 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुईं, क्योंकि ईरान परमाणु वार्ता में मध्यम प्रगति के बीच बेहतर मांग की संभावनाओं ने बाजार की भावनाओं का समर्थन किया। पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन और उसके सहयोगियों, ओपेक+ ने तेल की मांग में सुधार पर दांव लगाने के बाद पहले की योजना के अनुसार उत्पादन कटौती को कम करने पर सहमति व्यक्त की। रूस के नेतृत्व में ओपेक समूह और उसके सहयोगी जून’21 में 700,000 बैरल प्रति दिन (बीपीडी) और जुलाई’21 में 840,000 बैरल प्रति दिन पंप करेंगे। ओपेक ने अप्रैल 2022 तक 5.8 मिलियन बैरल की शेष उत्पादन कटौती को जोड़ने की योजना बनाई है। तेल उत्पादक देशों का समूह अगली बैठक 1 जुलाई 2021 को करेगा। इसके अलावा, वैश्विक बाजारों में ईरानी तेल की संभावित वापसी की संभावनाएं धूमिल रहीं क्योंकि वियना में आयोजित पांचवें दौर की वार्ता के बाद भी कोई बड़ा परिणाम नहीं निकला था।
बेस मेटल्स
बुधवार को एलएमई पर बेस मेटल्स ने मजबूत अमेरिकी डॉलर के रूप में कम कारोबार किया और प्रमुख धातु उपभोक्ता चीन की मांग को रोकने से कीमतों में गिरावट आई। दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था चीन, जिसने औद्योगिक धातुओं पर दबाव डाला, में आयातित धातु का प्रीमियम कमजोर मांग की ओर संकेत करते हुए कई वर्षों के निचले स्तर पर आ गया। इसके अलावा, चीन का आधिकारिक मैन्युफैक्चरिंग पर्चेज मैनेजर इंडेक्स (पीएमआई) कच्चे माल की कीमतों में बढ़ोतरी के बाद अप्रैल’21 में रिपोर्ट किए गए 51.1 से घटकर 51 (इसी समय सीमा में) हो गया। हालांकि, कैक्सिन/मार्किट मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई, जो मुख्य रूप से छोटी फर्मों पर केंद्रित है, मई’21 में बढ़कर 52 हो गया, जो अप्रैल’21 में रिपोर्ट किए गए 51.9 से अधिक है।
तांबा
एलएमई कॉपर लगभग 0.1 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10147.5 प्रति टन पर बंद हुआ क्योंकि चीन से कमजोर मांग और मजबूत डॉलर ने कॉपर के लिए आपूर्ति के खतरों को कम कर दिया और कीमतों पर दबाव डाला। प्रमुख तांबा उत्पादक चिली से उत्पन्न होने वाली संभावित कमी पर चिंता तब कम हुई जब बीएचपी ने कहा कि हड़ताल के बावजूद एस्कॉन्डिडा और स्पेंस खदान में संचालन सामान्य था। हफ्तों की बातचीत के बाद भी बीएचपी के साथ समझौता करने में विफल रहने के बाद 200 सदस्यीय यूनियन ने पिछले हफ्ते नौकरी छोड़ दी। ग्लोबल माइनर बीएचपी ने बाद में खदान को चालू रखने के लिए स्थानापन्न श्रमिकों को बुलाया। चिली के कॉपर कमीशन कोचिल्को के अनुसार, कोडेल्को कॉपर माइन का उत्पादन अप्रैल’21 में 132,700 टन रहा, यानी उत्पादन में 0.5% (वर्ष-दर-वर्ष) की गिरावट आई, जबकि बीएचपी की एस्कॉन्डिडा खदान का उत्पादन 85,700 रहा, जो इसी समय सीमा में 16.5 प्रतिशत की गिरावट है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

अवादा फाउंडशेन ने मथुरा के पांच विद्यालयों को अगीकृत किया

मथुरा। अवादा ग्रुप की समाज कल्याण संस्था, अवादा फाउंडशेन ने अपने उत्कृष्ट शिक्षा अभियान का प्रारंभ मथुरा के राजकीय...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img