Sunday, December 5, 2021

एल्सटॉम ने दिल्ली-गाज़ियाबाद-मेरठ आरआरटीएस प्रोजेक्ट के लिए आधुनिक कम्युटर एवं ट्रांज़िट ट्रेंस का निर्माण शुरू किया

Must Read

नयी दिल्ली। एल्सटॉम ने आरआरटीएस फेज़ 1 के दिल्ली-गाज़ियाबाद-मेरठ सेमी हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर के लिए रीज़नल कम्युटर एवं ट्रांज़िट ट्रेनों का निर्माण शुरू कर दिया। मई, 2020 में कंपनी को 210 रीज़नल कम्युटर एवं ट्रांज़िट ट्रेन कारों के डिज़ाईन, निर्माण व आपूर्ति तथा 15 सालों के लिए विस्तृत मेंटेनेंस सर्विस के लिए अनुबंध प्रदान किया गया था। रीज़नल कम्युटर एवं ट्रांज़िट ट्रेनों का निर्माण शुरू कर दिया। मई, 2020 में कंपनी को 210 रीज़नल कम्युटर एवं ट्रांज़िट ट्रेन कारों के डिज़ाईन, निर्माण व आपूर्ति तथा 15 सालों के लिए विस्तृत मेंटेनेंस सर्विस के लिए अनुबंध प्रदान किया गया था।
अनुबंध के मुताबिक, एल्सटॉम 30 रीज़नल कम्युटर ट्रेनसेट्स की आपूर्ति करेगा, जिनमें से प्रत्येक छः कारों की होगी और 10 मास ट्रांज़िट कारों में से प्रत्येक तीन कारों की होगी। देश के “आत्मनिर्भर भारत” के उद्देश्य एवं मेक-इन-इंडिया के दिशानिर्देशों के अनुरूप यह आरआरटीएस ट्रेनें 100 फीसदी देश में सवली (गुजरात) में एल्सटॉम की सुविधा में बनाई जाएंगी, जिनमें 80 फीसदी से ज्यादा लोकलाईज़ेशन है। यह सुविधा बोगी, कार बॉडी बनाएगी और ट्रेन की टेस्टिंग करेगी। प्रोपल्ज़न सिस्टम एवं इलेक्ट्रिकल्स मानेजा (गुजरात) में कंपनी की फैक्ट्री में बनाए जा रहे हैं।
एलेन स्पोह्रए मैनेजिंग डायरेक्टर, एल्सटॉम इंडिया ने कहा, “यह प्रोजेक्ट भारत के रीज़नल रेल सेगमेंट के लिए गेम-चेंजर है, जो लाखों लोगों को लाभान्वित कर सामाजिक-आर्थिक विकास में योगदान देगा। हमें देश की पहली सेमी हाई-स्पीड कम्युटर सेवा के लिए इन प्रौद्योगिकी की दृष्टि से उन्नत ट्रेनों का स्थानीय स्तर पर निर्माण शुरू करने की खुशी है। एल्सटॉम में हम सतत उत्पाद व समाधानों के विकास पर केंद्रित रहते हैं, जो आने वाले समय में दशकों तक शानदार काम करते रहें।“

 

 

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

एग्रीबाजार पहला ऑनलाइन एग्री-ट्रेडिंग प्‍लेटफॉर्म बना

नयी दिल्ली। भारत की प्रमुख फुल-स्‍टैक एग्रीटेक कंपनी एग्रीबाजार ने अपने वर्चुअल पेमेंट सॉल्‍यूशन प्‍लेटफॉर्म एग्रीपे को नए अंदाज...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img