Tuesday, December 7, 2021

ऑस्टियोपोरोसिस: कारण, लक्षण और उपचार

Must Read

डॉ. आशुतोष झा, कंसलटेंट – आर्थोपेडिक्स, कोलंबिया-एशिया हॉस्पिटल, ग़ाज़िआबाद

ऑस्टियोपोरोसिस हड्डी से जुड़ी एक बीमारी है जो हड्डी की कुदरती रूप और संरचना को नुकसान पहुंचाती है। यह स्थिति हड्डियों में बोन मास की कमी के कारण होती जिससे हड्डियां नाजुक बना जाती है और उनमे फ्रैक्चर होने की संभावना बढ़ जाती है। ऑस्टियोपोरोसिस एक हड्डी का विकार है जिसका परिणाम लगातार फ्रैक्चर भी हो सकता है। यदि शुरुआती लक्षणों को नजरअंदाज किया जाए तो मूक रोग बड़ी जटिलताओं का कारण भी बन सकता है।

हड्डियां प्रोटीन, कोलेजन और कैल्शियम से बनी होती हैं जो उन्हें ताकत देती हैं। ऑस्टियोपोरोसिस वह स्थिति है जहाँ हड्डियां मामूली चोटों की वजह से भी टूट सकती हैं। कूल्हे की हड्डी, रीढ़, पसलियों और कलाई सबसे कमजोर हड्डियां हैं जो ऑस्टियोपोरोसिस से फ्रैक्चर हो सकती हैं। “इंटरनेशनल ऑस्टियोपोरोसिस फाउंडेशन” के आंकड़ों के अनुसार, 3 में से 1 महिलाओं और 5 पुरुषों में से १, ऑस्टियोपोरोसिस के कारण होने वाले फ्रैक्चर को अनुभव कर सकते हैं। मगर कुछ निदान और उपचार के साथ, आप ऑस्टियोपोरोसिस को रोक सकते हैं।

ऑस्टियोपोरोसिस के कारण

ऐसे कई कारण है जिसकी वजह से हड्डियों को नुकसान पहुंच सकता है या फिर हड्डियां फ्रैक्चर भी हो सकती हैं। पुरुषों की तुलना में ऑस्टियोपोरोसिस की स्थिति महिलाओं में होने की संभावना अधिक होती है। पुरुषों और महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस के कुछ सामान्य कारण हैं जैसे: शारीरिक गतिविधियों की कमी, शरीर का आकार, अस्वस्थ जीवनशैली या फिर शराब, धूम्रपान और अन्य मुद्दों का अत्यधिक सेवन।

ऑस्टियोपोरोसिस के कई कारण हो सकते हैं, जिनमे से 50% माध्यमिक कारण होते हैं जैसै मधुमेह, एचआईवी, रक्तचाप, गठिया, कैंसर आदि।

ऑस्टियोपोरोसिस के लक्षण

• मामूली चोट के कारन हड्डियों में फ्रैक्चर होना।

• नाजुक हड्डियां

• चलने, झुकने, खांसने या यहां तक कि दैनिक जीवन के कामों को करने में असुविधा।

• शरीर के निचले हिस्सों में दर्द, जिससे रीढ़ की हड्डी वक्र पर प्रभाव पड़ना

• सांस लेने में परेशानी।

• विकृति या गठिया

• अन्य लक्षणों जैसे जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में कमजोरी और शरीर को संतुलित रखने में परेशानी भी शामिल है।

ऑस्टियोपोरोसिस के उपचार

पोस्टमेनोपॉज़ल ऑस्टियोपोरोसिस के इलाज के कई तरीके हैं।

1. ऑस्टियोपोरोसिस की स्थिति जिसमे बोन मास की कमी हो (कोई अन्य जोखिम और कारण न हो) उसके इलाज के लिए उचित दवाएं मिलनी चाहिए।

2 ऑस्टियोपोरोसिस की स्थिति जिसमे बोन मास की कमी के साथ अन्य माध्यमिक कारणों की तकलीफ हो ऐसे में दवाओं के साथ अन्य तरीकों के माध्यम से इलाज की आवश्यकता है।

उपचार का उद्देश्य हड्डियों के नुकसान को धीमा करना, चोट या फ्रैक्चर को रोकना और हड्डियों के दर्द को कम करना है।

ऑस्टियोपोरोसिस को ठीक करने के लिए यह कुछ सरल तरीके हैं:

1. कैल्शियम: दूध, डेयरी उत्पादों, दही, और अन्य कैल्शियम युक्त भोजन जैसे कैल्शियम युक्त आहार शामिल करें। कैल्शियम हड्डियों को फ्रैक्चर और अन्य हड्डियों के नुकसान से बचाने के लिए ताकत देता है।

2. विटामिन और पोषक तत्व: विटामिन डी, के, मैग्नीशियम से संबंधित कमियां और अन्य आवश्यक पोषक तत्वों के सेवन से फ्रैक्चर के जोखिम को कम किया जा सकता है और मांसपेशियों की ताकत में सुधार आता है।

3. जीवन शैली: स्वास्थ्य आदतों, आहार और दैनिक दिनचर्या में व्यायाम से हडियों में बोन मास की कमी दूर होती है, शरीर के संतुलन और मांसपेशियों की शक्ति में सुधार आता हैं।

4. शराब के सेवन से बचना चाहिए और धूम्रपान छोड़ देना चाहिए। किसी भी प्रकार की आहार शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करें, क्योंकि कुछ रोगियों को गेहूं, जौ, राई और अन्य लस भोजन से बचने की आवश्यकता है।

ऑस्टियोपोरोसिस के उपचार की एक निश्चित अवधि नहीं होती है और कभी-कभी चुनौतीपूर्ण हो सकती है। फ्रैक्चर और अन्य गंभीर चोटों से बचें रहें  क्योंकि वे अन्य चिकित्सा कठिनाइयों का रूप ले सकती है। उपचार के बारे में खुद को अपडेट रखना और अपनी प्रगति को चिह्नित करना बेहतर है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

एग्रीबाजार पहला ऑनलाइन एग्री-ट्रेडिंग प्‍लेटफॉर्म बना

नयी दिल्ली। भारत की प्रमुख फुल-स्‍टैक एग्रीटेक कंपनी एग्रीबाजार ने अपने वर्चुअल पेमेंट सॉल्‍यूशन प्‍लेटफॉर्म एग्रीपे को नए अंदाज...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img