चुने हुए जन प्रतिनिधियों को उनकी ज़िम्मेदारी का अहसास दिलाएगा ओखला यूथ फेडरेशन

ए एन शिब्ली
नयी दिल्ली। आम तौर पर यह देखा जाता है कि किसी भी चुनाव के समय उम्मीदवार लंबा लंबा भाषण देते हैं और क्षेत्र के विकास के लम्बे चौड़े वायदे करते हैं मगर जीत जाने के बाद ऐसा लगता है उन्हें अपना कोई वादा याद ही नहीं रहता। ओखला के ऐसे ही नेताओं को उनके वायदे याद दिलाने और उन्हें उनकी ज़िम्मेदारी का अहसास दिलाने के लिए दक्षिण दिल्ली में जामिया नगर के युवाओं ने ‘ओखला युथ फेडरेशन’ की स्थापना की है। इस फेडरेशन से ओखला के जो भी युवा जुड़े हैं उनमें सबके सब अपने अपने तौर पर इलाक़े में लोगों की मदद किसी न किसी रूप में कर रहे थे। इलाक़े की समस्याओं को लेकर भी यह अपनी आवाज़ बुलंद करते रहते थे मगर इन्हें वैसी सफलता नहीं मिल रही थी जैसी मिलनी चाहिए। इसलिए अब इन युवाओं ने एक टीम बना ली है।
ओखला यूथ फेडरेशन की स्थापना ओखला के युवाओं की एक शानदार पहल है मगर यहाँ देखना ज़रूरी है कि यह युवा कब तक बिना किसी राजनितिक दबाव के और ईमानदारी के साथ एक टीम के तौर पर काम करते हुए ओखला का मुद्दा उठाते रहेंगे ?
ओखला यूथ फेडरेशन के कन्वेनर रिज़वान खलीफा हिंदुस्तानी जबकि कोऑर्डिनेटर महमूद अनवर बनाये गए हैं। इनके अलावा इनकी टीम में सुब्हान बिलाल, सैयद कफील, नवेद, असलम, मोहम्मद तल्हा, फैज़ इलाही, आसिफ अल्वी ,मनाज़िर ज़ैदी, सल्लू अंसारी , एडवोकेट समीर आदि शामिल हैं। रिज़वान खलीफा ने आज़ाद एक्सप्रेस को बताया कि हमारी टीम में जो युवा शामिल हुए हैं वह किसी राजनितिक पार्टियों से सम्बन्ध नहीं रखते हैं इन सब में बस एक जज़्बा है और वह है क्षेत्र का विकास। रिज़वान कहते हैं , यह बड़े शर्म की बात है कि ओखला के बाहर के लोग ओखला को बहुत अच्छा इलाक़ा समझते हैं जबकि यहाँ बहुत समस्याएं हैं। इतने बड़े इलाक़े में सरकारी अस्पताल नहीं है , बहुत अच्छे स्कूल नहीं हैं , पीने का साफ़ पानी उपलभ्ध नहीं , लोग पैसे खर्च करके ठेले वालों से पानी मंगवाते हैं।
ओखला युथ फेडरेशन अब यहाँ काऊंसलर और विधायक को यहाँ की समस्याओं से अवगत करा कर उसे हल करने की अपील करेगा। रिज़वान के अनुसार पहले हमारी कोशिश होगी कि हम ओखला की समस्याओं को चुने हुए प्रतिनिधियों के सामने रखें और उनसे अपील करें कि इस समस्या का सामाधान निकालें ताकि यहाँ के लोग भी इज़त के साथ अपना जीवन गुज़ार सकें। रिज़वान के कहा कि अगर यह जनप्रतिनिधि हमारी सुनते हैं और काम करते हैं तो हम उनकी प्रशंसा करेंगे लेकिन अगर वाह हमारी नहीं सुनते और इलाक़े की समस्या को नज़रअंदाज़ करते हैं तो फिर हम उनके खिलाफ प्रदर्शन भी करेंगे।
फेडरेशन से जुड़े सैयद ज़ैनुल हैदर ने कहा ,” इस टीम में बहुत एक्टिव युवा जुड़े हैं और इन सब में ओखला के लिए कुछ करने का जज़्बा है। हैदर के अनुसार इलाक़े के लोगों को तो ज़िम्मेदार होना पड़ता ही है मगर इलाक़े के विकास के लिए असली ज़िम्मेदारी उन नेताओं की बनती है जिन्हें जनता ने किसी उम्मीद में वोट दिया है। फेडरेशन का खास काम होगा कि वह यहाँ के जनप्रतिनिधियों को याद दिलाये कि आपकी यह ज़िम्मेदारी है और यहाँ के लोगों ने आपको किस लिए वोट दिया था। यह फेडरेशन पहले तो काम के लिए इन नेताओं से अपील करेगा और अगर यह नहीं सुनेंगे तो इनके खिलाफ आवाज़ बुलंद की जाएगी। ज्ञात रहे कि ओखला युथ फेडरेशन ने इलाक़े के विकास के लिए बैठक करने और इस सम्बन्ध में नेताओं से मिलने का सिलसिला शुरू कर दिया है।

    Leave Your Comment

    Your email address will not be published.*