Tuesday, December 7, 2021

भाजपा की दिल्ली पुलिस, दिल्ली दंगा मामलों की सही से नहीं कर रही जांच: आतिशी

Must Read

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी ने दिल्ली दंगों के मामलों में दिल्ली पुलिस की जांच पर कोर्ट द्वारा बार-बार सवाल उठाए जाने पर दिल्ली पुलिस के मंसूबे पर सवाल खड़ा किया है। ‘आप’ विधायक आतिशी ने कहा कि भाजपा की दिल्ली पुलिस, दिल्ली दंगा मामलों की सही से जांच नहीं कर रही है और पुलिस की जांच पर बार-बार कोर्ट द्वारा सवाल खड़े किए जा रहे हैं। दिल्ली दंगों में जब से कार्यवाही शुरू हुई है, तभी से हर स्तर के कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की जांच पर बार-बार सवाल उठाए हैं। दिल्ली पुलिस का, दिल्ली दंगों की सही जांच और चार्जशीट दाखिल कर हिंसा व आगजनी के असली अपराधियों को पकड़ने का कोई इरादा ही नहीं है। उन्होंने कहा कि दिल्ली दंगों के डेढ़ साल बाद भी दिल्ली पुलिस 750 मामलों में से सिर्फ 35 में ही चार्जशीट दाखिल कर पाई है। दिल्ली दंगों की सही जांच न हो, इसीलिए केजरीवाल सरकार की तरफ से नियुक्त स्पेशल प्रॉसिक्यूटर्स को एलजी रखने को तैयार नहीं हैं। केजरीवाल सरकार ने जब अपने स्पेशल प्रॉसिक्यूटर नियुक्त किए, तब एलजी ने उस फैसले को पलट दिए। उन्होंने सवाल किया कि आखिर क्यों दिल्ली पुलिस ठीक से जांच और कार्रवाई नहीं कर रही है, क्या किसी को बचा रही है? आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता एवं विधायक आतिशी ने फरवरी-2020 में हुए दिल्ली दंगों की जांच में दिल्ली पुलिस द्वारा बरती जा रही लापरवाही को लेकर आज पार्टी मुख्यायल में प्रेस वार्ता को संबोधित किया। विधायक आतिशी ने कहा कि फरवरी-2020 में दिल्ली ने बहुत ही दर्दनाक दंगों का सामना किया। हम सबने देखा कि नार्थ-ईस्ट दिल्ली में किस प्रकार से दंगे हुए, किस तरह से उसमें आगजनी और हिंसा हुई। दिल्ली ने शायद अपने इतिहास में ऐसे दंगे नहीं देखे होंगे, लेकिन आज इन दंगों के डेढ़ साल होने के बाद भी दिल्ली पुलिस ने न कोई कार्रवाई की है और न तो ठीक से जांच की है। पुलिस की जांच पर खुद अलग-अलग कोर्ट्स ने बार-बार सवाल उठाए हैं। आज हम यह जानना चाह रहे हैं कि दिल्ली पुलिस इन दंगों को लेकर क्यों ठीक से जांच नहीं कर रही है, क्यों कार्यवाही नहीं कर रही है? दिल्ली पुलिस इन दंगों में क्या किसी को बचा रही है? जिस दिन से इन दंगों के बाद कार्यवाही शुरू हुई है, बार-बार हर स्तर के कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की जांच पर सवाल उठाए हैं।
आतिशी ने कहा कि हम यह सवाल सिर्फ इसलिए नहीं उठा रहे कि हम एक राजनीतिक दल हैं और दिल्ली पुलिस भाजपा के अधीन आती है, बल्कि इस देश के हर स्तर का कोर्ट सवाल उठा रहा है। सेशन कोर्ट दिल्ली पुलिस से सवाल पूछ रहा है, हाईकोर्ट दिल्ली पुलिस से सवाल पूछ रहा है, सुप्रीम कोर्ट दिल्ली पुलिस से सवाल पूछ रही है। फरवरी-2020 में ही दिल्ली हाईकोर्ट के न्यायाधीश मुरलीधरन ने जब दिल्ली पुलिस से पूछा कि आपने अलग-अलग राजनेताओं के भड़काऊ भाषण के वीडियो पर कार्रवाई क्यों नहीं की, तब दिल्ली पुलिस ने कोर्ट को कहा कि हमने तो वह वीडियो देखे ही नहीं हैं। उस दौरान दिल्ली हाईकोर्ट ने कोर्ट में ही दिल्ली पुलिस को वह वीडियो दिखाए और कहा कि इन पर कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है? जैसे यह मामले आगे बढ़े, फिर से नवंबर-2020 में कोर्ट ने दिल्ली पुलिस के खिलाफ बहुत सख्त टिप्पणियां की। बार-बार अलग-अलग मामलों में दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को बोला कि आपने कोई भी कार्यवाही नहीं की है, आपने ठीक से जांच नहीं की है। आप सिर्फ अपने ही कॉन्स्टेबल और अफसरों को गवाहों के तौर पर लेकर आ रहे हैं और ऐसे गवाहों के तौर पर लेकर आ रहे हैं, जिनको मदद करने के लिए न तो कोई सीसीटीवी फुटेज है और न कोई दूसरा गवाह है। ऐसा लग रहा है कि दिल्ली पुलिस के गवाह खुद तैयार किए गए हैं और फर्जी है, कोर्ट ने कहा है। विधायक आतिशी ने कहा कि एक से अधिक मामलों में कोर्ट ने दिल्ली पुलिस के द्वारा सामने लाए गए गवाहों को और उनके बयानों को स्वीकार करने से इन्कार कर दिया। कोर्ट ने बार-बार दिल्ली पुलिस से पूछा है कि ऐसा कैसे हो गया कि दिल्ली शहर में इतने सारे सीसीटीवी कैमरे हैं, लेकिन आपके गवाहों को मदद (सपोर्ट) करने के लिए एक भी जगह का सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध नहीं है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

एग्रीबाजार पहला ऑनलाइन एग्री-ट्रेडिंग प्‍लेटफॉर्म बना

नयी दिल्ली। भारत की प्रमुख फुल-स्‍टैक एग्रीटेक कंपनी एग्रीबाजार ने अपने वर्चुअल पेमेंट सॉल्‍यूशन प्‍लेटफॉर्म एग्रीपे को नए अंदाज...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img