Tuesday, December 7, 2021

यूएस क्रूड के स्टॉक में वृद्धि और बाजार में ईरानी तेल की फिर से शुरुआत के कारण तेल की कीमतें गिरी

Must Read

सोना
गुरुवार को स्पॉट सोना 0.11 फीसदी की तेजी के साथ $1798.6 प्रति औंस पर बंद हुआ था। यूएस अर्थव्यवस्था में धीमी वृद्धि से बाजार की जोखिम उठाने की क्षमता पर असर पड़ा और बदले में सुरक्षित पनाहगाह सोने की चाहत भी बढ़ी।
2021 की तीसरी तिमाही में यूएस की जीडीपी में 2 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जो निराशाजनक रोजगार डेटा, बाधित आपूर्ति श्रृंखला और वायरस के प्रकोप की वापसी को देखते हुए एक साल में अपनी सबसे धीमी गति रही है।
यूएस की अर्थव्यवस्था में धीमी गति की वृद्धि के संकेत मिलने से फेडरल रिजर्व की ओर से सख्त मौद्रिक नीति की ओर दांव कम हुआ।
इसके अलावा, यूएस डॉलर में थोड़ी गिरावट और अमेरिकी ट्रेजरी यील्ड के पीछे हटने से महत्वपूर्ण केंद्रीय बैंक की बैठक से पहले सुरक्षित पनाहगाह सोने की चाहत भी बढ़ी।
मुद्रास्फीति की चिंता उम्मीद से अधिक समय तक बनी रहने से भी सोने को समर्थन मिलता रहा क्योंकि इसे व्यापक रूप से मुद्रास्फीति और मुद्रा के गिरने के खिलाफ बचाव माना जाता है।
नवंबर 2021 के पहले सप्ताह में होने वाली यूएस फेडरल रिजर्व की आगामी बैठक पर निवेशकों की गहरी नज़र होने की उम्मीद है।

यूएस अर्थव्यवस्था में धीमी वृद्धि के बाद यूएस डॉलर में गिरावट से सोने का साप्ताहिक लाभ और बढ़ने की उम्मीद है।

कच्चा तेल
गुरुवार को, डब्ल्यूटीआई क्रूड 0.2 फीसदी की गिरावट के साथ $82.8 प्रति बैरल पर बंद हुआ। यूएस क्रूड इन्वेंट्री में वृद्धि होने और इरान द्वारा अपने परमाणु कार्यक्रम पर विश्व शक्ति से वार्ता फिर से शुरू करने के कारण बाजार पर ज़ोर पड़ने की वज़ह से कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट जारी रही।
एनर्जी इंफॉर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन की रिपोर्ट के अनुसार, यूएस क्रूड इन्वेंट्री में 22 अक्टूबर 2021 को समाप्त सप्ताह में 4.3 मिलियन बैरल की वृद्धि हुई, जो बाजार की 1.9 मिलियन बैरल की उम्मीद से ज्यादा था।
हालांकि, वैश्विक मांग बढ़ने के बीच संभावित कमी की चिंताओं के कारण बाजार की धारणा मजबूत होने से तेल की कीमतों में साप्ताहिक बढ़त हुई। ओपीईसी और उसके सहयोगी तंग वैश्विक तेल बाजार के बावजूद उत्पादन में अपनी निर्धारित वृद्धि करते रहे हैं, जो कच्चे तेल की कीमतों के लिए भी सहायक रहे हैं।

जबकि चीन में सरकार के हस्तक्षेप के बाद कोयले और ऊर्जा की कीमतों में कमी आई है, बाकी दुनिया में कीमतें ऊंची बनी हुई हैं क्योंकि गिरते तापमान से ईंधन की मांग बढ़ने की उम्मीद है।

यूएस क्रूड इन्वेंट्री में वृद्धि के बीच वैश्विक बाजारों में ईरान की आपूर्ति फिर से शुरू होने को जुड़ी चिंता की वज़ह से तेल अगस्त 2021 के अपने पहले साप्ताहिक नुकसान की ओर बढ़ रहा है।

बेस मेटल
गुरुवार को, MCX पर अधिकांश औद्योगिक धातुओं ने अंतरराष्ट्रीय बाजारों के अनुरूप उच्च कारोबार किया क्योंकि दोबारा वैश्विक मांग बढ़ने के बीच आपूर्ति की बढ़ती चिंताओं से वैश्विक बाजार में कमी आ सकती है।
एल्युमीनियम की कीमतों में कल के सत्र में 2.2 प्रतिशत से अधिक की बढ़त के साथ कुछ नुकसान कम हुआ, क्योंकि बाजारों को उम्मीद थी कि प्रमुख उत्पादक चीन में बिजली की खपत के नियमों के कठोर होने के बाद हल्की धातु की आपूर्ति तंग होने के कारण, आपूर्ति तंग रह सकती है।
चीन के नियत योजनाकार ने हस्तक्षेप करने और ईंधन की रिकॉर्ड उच्च कीमतों को “उचित सीमा” पर वापस लाने की घोषणा की, जिससे कोयले की कीमतों में हालिया गिरावट आई। चीनी अधिकारियों ने कोयला भंडारण की जगहों पर “सफाई और सुधार” कार्य करने की योजना बनाई और कोयले की कीमतों को और कम करने से आपूर्ति के संभावित खतरें कम हो गए, जिसका असर एल्यूमीनियम और अन्य औद्योगिक धातुओं पर पड़ा।
तांबा
गुरुवार को, LME कॉपर 1.24 प्रतिशत की तेजी के साथ समाप्त हुआ, जबकि MCX कॉपर की कीमतों में 0.7 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई, क्योंकि संभावित कमी की चिंताओं पर कोयले की कीमतों में कमी का असर नहीं पड़ा और कीमतें उच्च स्तर पर गईं।
पेरू से आपूर्ति पर पैदा होने वाले संभावित खतरे भी तांबे के लिए सहायक रहें। प्रदर्शनकारियों ने इस सप्ताह की शुरुआत में पेरू की एंटामिना तांबे और जस्ता खदान द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली सड़क को अवरुद्ध कर दिया क्योंकि कंपनी स्थानीय क्षेत्र के लिए अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा नहीं कर पाई। एक अन्य स्थानीय समूह भी इन्हीं वज़हों से पेरू में लास बंबास तांबे की खदान की ओर जाने वाली सड़क पर पिछले सप्ताह से विरोध कर रहा है। दुनिया के नंबर 2 तांबा उत्पादक देश पेरू ने 2020 में 2.15 मिलियन टन का उत्पादन किया था।

चीन में बिजली की खपत के नियमों से एल्युमीनियम आपूर्ति की चेन में बाधा आने की उम्मीद है, जिससे एल्युमीनियम की कीमतों को कुछ समर्थन मिलना जारी रह सकता है।

लेखक: प्रथमेश माल्या, एवीपी-अनुसंधान, गैर-कृषि कमाडिटी और मुद्राएं, एंजेल वन लिमिटेड

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

एग्रीबाजार पहला ऑनलाइन एग्री-ट्रेडिंग प्‍लेटफॉर्म बना

नयी दिल्ली। भारत की प्रमुख फुल-स्‍टैक एग्रीटेक कंपनी एग्रीबाजार ने अपने वर्चुअल पेमेंट सॉल्‍यूशन प्‍लेटफॉर्म एग्रीपे को नए अंदाज...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img