Monday, October 3, 2022

इंडस टॉवर्स ने लद्दाख में 10 मोबाईल टॉवर्स की स्थापना की

Must Read

लद्दाख। देश में संचार व्यवस्था को मजबूत करने के अपने मिशन के तहत, इंडस टॉवर्स लिमिटेड ने केंद्रशासित प्रांत, लद्दाख में लेह और कारगिल के विभिन्न जिलों में 10 नए मोबाईल टॉवर की स्थापना का काम पूरा कर लिया। ये टॉवर भारत में सबसे ज्यादा ऊँचाई पर स्थित इलाकों में मान पांगोंग (12,905 फीट), सामरा (11,692 फीट), तिया (11,110 फीट), थेमिसगम (10,553 फीट), चमशन चरासा (10,323 फीट), स्कुरू (10,190 फीट), तेरचे (10,150 फीट), बोगडांग (9,936 फीट), थसगम (9,580 फीट) और बारू (8,895 फीट) में स्थापित किए गए हैं। नए मोबाईल टॉवरों की स्थापना के बाद लद्दाख के सबसे मुश्किल इलाकों में स्थित इन दूरदराज के गांवों में अब भरोसेमंद मोबाईल व 4जी इंटरनेट कनेक्टिविटी मिल सकेगी। नया टेलीकॉम इन्फ्रास्ट्रक्चर इन गांवों के निवासियों, प्रशासन, भारतीय सेना एवं यहां आने वाले लोगों को आवश्यक कनेक्टिविटी सपोर्ट प्रदान करेगा।

टॉवरों के निर्माण के बारे में, सुकेश थरेजा, सर्किल सीईओ-जम्मू एवं कश्मीर, इंडस टॉवर्स लिमिटेड ने कहा, ‘‘भारत और विश्व के सबसे एकांत स्थित स्थानों में से एक, लद्दाख में मोबाईल टॉवर की स्थापना के लिए हमारी टीम को बहुत कड़ी मेहनत करनी पड़ी। हमारी टीम की कड़ी मेहनत ने लद्दाख के निवासियों के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को प्रदर्शित किया है। मैं लद्दाख के प्रशासन के प्रति आभार व्यक्त करता हूँ, जिन्होंने हमें संचार स्थापित करने के लिए अपनी सेवाएं प्रस्तुत करने का अवसर दिया। बेहतर कनेक्टिविटी से इस क्षेत्र में ज्यादा आर्थिक अवसर, सुविधा एवं गतिशीलता आएगी। इंडस टॉवर्स कनेक्टिविटी की चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रतिबद्ध है और देश में संचार संभव बनाने के अपने मिशन के तहत एक मजबूत व प्रभावशाली टेलीकॉम इन्फ्रास्ट्रक्चर की स्थापना करता रहेगा। मौसम या अनपेक्षित तकनीकी समस्या के कारण संचार में बाधा आने पर साईट्स का रखरखाव करने में हमारी टीमें पूरी तरह समर्थ हैं।’’

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

बिरला फर्टिलिटी एवं आईवीएफ में टेस्टिकुलर कैंसर के मरीज का ऑपरेशन

नई दिल्ली। फर्टिलिटी के भविष्य में परिवर्तन लाने के उद्देश्य से फर्टिलिटी केयर में ग्लोबल लीडर बनने की अपनी...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img